Tuesday, September 27, 2016

गुजरात के सफाई कर्मचारी भाई अधीर न हों गलत लोगों के बहकावे में न आएं

गुजरात के सफाई कर्मचारी भाई अधीर न हों गलत लोगों के बहकावे में न आएं सरकार आपके मान सम्मान और स्वाभिमान की चिंता करेगी आपकी मांगों पर विचार करेगी।

Thursday, September 22, 2016

मायावती नें तथाकथित दलितों को सिर्फ ठगा और बेचा, भाजपा नें दिया सम्मान

क्रम रुकने न दें समस्त जानकारी हर मोबाइल में पहुँच जाये तब तक फॉरवर्ड करते रहें
शान्त प्रकाश जाटव
भाजपा सरकार की घोषित योजनाएँ जिसका सीधा लाभ गरीब वर्ग को मिलता है जिनमें अधिकांश अनुसूचित जातियां हैं

प्रधानमन्त्री जनधन योजना – देश के सभी लोगों का खाता खोला गया

बीमा योजना - मात्र 330 रूपये वार्षिक पर 2 लाख का जीवन बीमा और मात्र 12 रूपये वार्षिक पर 2 लाख रूपये का दुर्घटना बीमा

अटल पेंशन योजना – 60 वर्ष के उपरांत 1000 रुपए से 5000 रुपए तक पेंशन योजना

मुद्रा बैंक योजना – छोटे उधमियों को 15 लाख तक कम ब्याज पर बिना गारंटी के ऋण देने की योजना

मेक इन इंडिया – देश के 125000 राष्ट्रीयकृत बेंकों की शाखाओं के माध्यम से प्रत्येक बैंक द्वारा कम से कम 1 या उससे अधिक अनुसूचित जाति वर्ग के व्यवसाई को उधमी बनाना

शिक्षित बनो – अनुसूचित जाति वर्ग के प्रतिभावान छात्रों 10 लाख देश में अध्यन व् 20 लाख विदेश में अध्यन हेतु बिना गारंटर ऋण देना

चिकित्सा सम्बन्धी आर्थिक सहायता – 1 लाख वार्षिक आय तक के अनुसूचित जाति समाज के लोगों के लिए ह्रदय रोग, किडनी सम्बन्धी जैसे गंभीर रोग के इलाज के लिए 3 लाख रूपये तक की सहायता का केंद्र सरकार द्वारा प्रावधान
शान्त प्रकाश जाटव

सिर्फ भाजपा नें डॉ अम्बेडकर का किया सम्मान

1. भाजपा सरकार द्वारा डा.अम्बेडकर की जन्मभूमि (महू, मध्य प्रदेश) पर भव्य स्मारक बनाया।

2.  डा.अम्बेडकर परिनिर्वाण स्थल दिल्ली स्थित आवास 26 अलीपुर रोड भाजपा सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्मारक एवं संग्रहालय घोषित किया.

3.  बाबा साहब  डा.अम्बेडकर की दीक्षा भूमि (नागपुर) तथा चैत्य भूमि (दादर, मुंबई) पर भव्य स्मारक का निर्माण भाजपा सरकार नें किया।

4.  वर्ष 1989 में भाजपा नें विशेष प्रयास कर संसद भवन के केन्द्रीय कक्ष में डा.अम्बेडकर का चित्र लगवाया और डा.अम्बेडकर को भारत रत्न  की उपाधि से सम्मानित करवाया।

5. प्रधानमंत्री मोदी जी ने महाराष्ट्र सरकार को 12 एकड़ इंदु मिल की जमीन पर अम्बेडकर मेमोरियल निर्माण करने का आदेश दिया है। जिसमें एक तालाब, एक 25,000 वर्ग फुट का स्तूप, एक 39,622 वर्ग फुट इंटरैक्टिव संग्रहालय, एक भूमिगत पुस्तकालय और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए एक सभागार ब्लॉक होगा।

6. इंग्लैंड स्थित डॉ अम्बेडकर के निवास को भाजपा सरकार ने वर्ष 2014 में खरीदकर स्मारक बनाया।

7. नई दिल्ली में डॉ अम्बेडकर पुस्तकालय का मोदी जी नें शिलान्यास किया 2015

8. राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग और राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग का अलग अलग गठन किया एवं अलग-अलग मंत्रालय बनवाए।

9. अनुसूचित जाति एवं जनजाति के खिलाफ होने वाले अत्याचारों के रोकथाम और उनके मुकदमों के ट्रायल के लिए विभिन्न राज्यों में 137 विशेष अदालतों एवं विशेष प्रकोष्ठों का गठन किया।

10.  आरक्षित रिक्तियों को 50 प्रतिशत सीलिंग की मर्यादा से मुक्त करवाया।

11.  अनुसूचित जाति के अभ्यार्थियों को क्वालीफाईंग अंकों में छूट देने और पदोन्नति के समय पर छूट प्रदत स्तर पर  नियुक्ति करने का कानून बनाया।

12.  2001 की जनगणना के आधार पर राज्य विधानसभाओं व् लोकसभा में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए आरक्षित सीटों की पुनर्स्थापना का क़ानून बनाया।

13.  अनुसूचित जाति एवं जनजाति अभ्यार्थियों को पदोन्नति में आरक्षण का प्रावधान किया।

14.  1991-92 में श्री राजनाथ सिंह जी  के शिक्षामंत्रित्व काल में उत्तर प्रदेश के अनुसूचित जाति के शिक्षकों का बैकलॉग जो पूर्ववर्ती गैर भाजपा सरकारों द्वारा वर्षों से लंबित पड़ा था को शत-प्रतिशत पूर्ण किया गया।

15.  उत्तर प्रदेश राज्य सफाई कर्मचारी आयोग का गठन भाजपा शासन के दौरान किया गया।
शान्त प्रकाश जाटव

कांग्रेस द्वारा अनुसूचित जाति समाज एवं डा. अम्बेडकर के विरोध में किये गए कार्य :

1. वर्ष 1952 के लोकसभा चुनाव  में कांग्रेस द्वारा श्री नारायण काजोलकर को काग्रेस प्रत्याशी के रूप में डा.अम्बेडकर के मुकाबले खड़ा कर दिया और डा.अम्बेडकर चुनाव हार गए।

2.  वर्ष 1953 में भंडारा (महाराष्ट्र) में लोकसभा उपचुनाव में भी डा.अम्बेडकर के सामने श्री वानखेड़े को कांग्रेस प्रत्याशी बना कर खड़ा कर दिया परिणाम स्वरुप डा.अम्बेडकर पुनः चुनाव हार गए।

3. कांग्रेस नें धार्मिक तथा भाषाई अल्पसंख्यकों द्वारा संचालित शैक्षिक एवं व्यवसायिक संस्थाओं (देश में लगभग 75 प्रतिशत से ज्यादा) में प्रवेश हेतु अनुसूचित जाति वर्ग को आरक्षण न देने कि अनुमति दी।

4.  आज़ादी के बाद देश का कोई भी प्रधानमंत्री रहा हो सब की एक ही नीति रही कि देश के आर्थिक विकास के संसाधनों पर पहला अधिकार केवल अनुसूचित वर्ग का है लेकिन प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह नें उपरोक्त सर्वमान्य नीति को बदल कर घोषणा कर दी कि देश के आर्थिक संसाधनों पर अनुसूचित वर्ग का नहीं बल्कि मुसलमानों का हक़ है।

5.  अनुसूचित जाति को मिलने वाले आरक्षण को धर्मान्तरित ईसाई एवं मुसलमानों को भी देने का कुषड्यंत्र कांग्रेस द्वारा किया गया।

6.  कांग्रेस के शासन में 45% लोग गरीबी की रेखा से नीचे थे जिसमें 51% लोगों को बीपीएल कार्ड नहीं मिले।

7.    सरकारी गोदामों में हजारो टन गेहूं सड़ता रहा, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद गरीबों में वह अनाज नहीं बांटा गया। मंहगाई के कारण लोग आत्महत्या करने को मजबूर हुए लोग 12 रूपये से 16 रूपये में जीवनयापन करने को मजबूर थे।

8.        कांग्रेस सरकार द्वारा दिल्ली में अनुसूचित जाति वर्ग के विकास पर खर्च होने वाला 667  करोड़ रुपया कॉमनवेल्थ गेम के नाम पर खर्च कर दिए गए।
शान्त प्रकाश जाटव

अनुसूचित जाति के युवाओं को किया जा रहा है षड्यंत्रकारी तरीके से गुमराह

1.        यूपी में प्रमोशन में आरक्षण का फैसला न होने के कारण कई लाख लोग सिर्फ मायावती के कारण रिवर्ट हुए

जिसके लिए एकमात्र दोषी मायावती है मायावती बताये क्यों ?

·         17.38 करोड़ रूपये लेकर भी सतीश मिश्रा ने पैरवी क्यों नहीं की परिणामतः मुकद्दमा ख़ारिज हुआ?

·         मायावती ने लखनऊ बैंच में पैरवी न किये जाने के कारण ख़ारिज हुए मुकद्दमें की इलाहाबाद हाई कोर्ट में अपील क्यों नहीं की ? वह सीधा सुप्रीम कोर्ट क्यों गई ? जहाँ सुप्रीम कोर्ट नें हाई कोर्ट जाने की सलाह देकर मुकद्दमा ख़ारिज किया।

·         मायावती नें 212 विधायक होने के बावजूद विधेयक पारित कर कानून क्यों नहीं बनाया ?

2.        मायावती दलित की बेटी के नाम पर राजनीति कर रही हैं तीन बार भाजपा के रहम पर मुख्यमंत्री बनीं हर बार धोका, दिया वही हाल अनुसूचित जाति समाज से भी किया। नेशनल क्राइम रिकोर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट के मुताबिक दलित उत्पीडन की देश में औसतन 30 हज़ार घटनाएँ हर साल होती हैं मायावती के शासन में उत्तर प्रदेश प्रथम स्थान पर रहा। उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग के अनुसार वर्ष 2007 में 6768, 2008 में 8074, 2009 में 7541 और 2010 में 7062  मामले दलित उत्पीडन के और 2007 में 319, 2008 में 255, 2009 में 265 और 2010 में 235 हत्या के मामले दर्ज हुए।
शान्त प्रकाश जाटव

3.        रोहित चक्रवर्ती वेमुला वामपंथी एक्टिविष्ट था वामपंथियों के इशारे पर उसने आतंकवादी याकूब मेनन को फाँसी दिए जाने के विरोध में विद्यालय परिसर में शोक सभा का आयोजन किया था, वो अपने साथियों के साथ अक्सर आतंकवादी याकूब मेनन के लिए नमाज़ पढ़ता था। जिसको विश्वविद्यालय प्रशासन नें गलत मानते हुए सभा कर रहे उसके साथी छात्रों को कुछ शर्तों के साथ निष्कासित किया, जाँच होने तक होस्टल खाली करना, वह बाहर रहकर अपनी पढ़ाई पूरी कर सकता था। स्कालरशिप रोक दी गई, जिसका उसको कतई आभास नहीं था। उसके आकाओं नें भी उसकी मदद नहीं की सम्भवतः उसे उकसाया परिणाम स्वरूप सुसाईड नोट लिख कर उसने आत्महत्या कर ली। विभागीय जांच से पता चला है की वह पिछड़ी जाति से था, बसपाई, कांग्रेसी और वामपंथी उसे दलित बता  रहे हैं ताकि दलित हमेशा की तरह मूर्ख बनकर मूर्खता में उन्हें वोट दे !
शान्त प्रकाश जाटव

4. सुनपेड, हरियाणा में दो बच्चों को जिन्दा जलाने की  निर्मम घटना, पति पत्नी के आपसी झगड़े के कारण हुई फॉरेंसिक जाचं में मिट्टी के तेल की आधी भरी बोतल भी कमरे में पलँग के पास मिली। मगर बसपाई, कांग्रेसी और वामपंथी इसे दलित उत्पीड़न से जोड़कर दलितों के वोट की खातिर झूठ प्रचारित कर आक्रोश पैदा कर रहे है।
शान्त प्रकाश जाटव

5. उना गुजरात में दलित उत्पीड़न की घटना एक कांग्रेसी विधायक के ईशारे पर हुई जिसके लिए 600 किलोमीटर दूर दमन से नकली गौरक्षक आये जिन्होंने घटना को अंजाम दिया और जानबूझकर तनाव पैदा करने के उद्देश्य से घटना का वीडियो भी स्वयं बनाया जिसे दमन पहुंचकर उन्होंने सोशल मीडिया पर प्रकाशित भी किया। अब वही कांग्रेसी, वामपंथी, बसपाई दलितों को वोट की खातिर गुमराह कर रहे हैं।
शान्त प्रकाश जाटव

Wednesday, August 31, 2016

हिंदुओं के एक वर्ग को षड्यंत्र स्वरूप वामपंथियों द्वारा अछूत कहा गया

हिंदुओं के एक वर्ग को षड्यंत्र स्वरूप वामपंथियों द्वारा अछूत कहा गया

एकनाथ, तुकाराम, रविदास जैसे अनेकों हिन्दू संत हुए जिन्हें षड्यंत्र के तहत अछूत कहा गया।
वेद आधारित आर्यसमाज में अनेक ब्राम्हण पुरोहित हुए हैं, जिनके पैर सभी हिन्दू छूते हैं जिन्हें षड्यंत्र के तहत अछूत कहा गया।
अनेक मंदिरों के ऐसे पुरोहित हैं,  जिनसे सभी हिन्दू आशीर्वाद लेते हैं, जिन्हें षड्यंत्र के तहत अछूत कहा गया।
हमारे यहाँ अनकोें राजा हुए हैं, जिनकी आधीनता सभी हिन्दुओं को स्वीकार्य थी, जिन्हें षड्यंत्र के तहत अछूत कहा गया।

पुराने काल की बात करें तो

रामायण लिखने वाले महृषि वाल्मिकी, भगवान राम के भी पूज्य थे, जो लव - कुश के गुरु थे, आज भी पूज्य हैं,

महाभारत के लेखक वेदव्यास सबके पूज्य थे, आज भी पूज्य हैं,

भगवान बुद्ध, विष्णु भगवान के दसवें अवतार हैं,
उपरोक्त सभी को षड्यंत्र के तहत अछूत कहा गया।

जबकि, एक हजार वर्ष भारत के शासक हिन्दू नहीं मुस्लिम थे,
दो सौ वर्ष भारत के शासक हिन्दू नहीं ईसाई थे,
1947 से अब तक, सेक्युलर व अछूतों के छद्म शुभचिन्तक बुद्धिजीवियों/ वामपंथियों/ समाजवादियों का शासन रहा है जिन्होनें खुद को अछूतों/ मजदूराें / किसानों का हमदर्द बताया, आप खुद तय करें अछूतों का असली शत्रु कौन है ?

छद्म दलित मायावती चार बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रहीं, समाज को गुमराही के सिवा क्या मिला किसका कितना उत्थान हुआ ?
हजारों - करोड़ का लेदर इण्डस्ट्री को उनके मूल मालिकों से कैसे, किसने चालाकी से छीना ?
सीवेज ट्रीटमेण्ट की परिपाटी उनसे जबरन किसने करवाई ?

हरमों का अपशिष्ट जबरन किसने सिर पर उठवाया ?

पाकिस्तान व बांग्लादेश के अछूतों का,  किसने सफाया किया ?

जरा ठण्ढ़े दिमाग से सोचिये

आरक्षण व्यवस्था ने, क्या सब अछूतों को नौकरी दे दी ?
भीम के संविधान ने, क्या सभी अछूतों का उत्थान कर दिया ?
आज अछूतों के उत्थान न होने का जिम्मेवार अछूत स्वयं हैं।
क्योंकि अछूत उनके पीछे चलते हैं जो ईसाई और मुस्लिम देशों से पैसा लेकर इनको गुमराह करते हैं हिन्दुओं को शत्रु बताते हैं और दलित - मुस्लिम का गठजोड़ बनाते हैं।
सावधान कहीं उत्थान के बजाए सफाया न हो जाए ?
क्योंकि कश्मीर से केवल पंडित हीं नहीं अछूत भी साफ हो गए।

शान्त प्रकाश जाटव

Monday, August 29, 2016

Beef eater Hitler द्वारा जर्मन सेना में शामिल होने का पैगाम ठुकरा दिया था गाय का दूध पीकर 3 ओलम्पिक स्वर्ण पदक जीते मेजर ध्यानचंद नें

Beef eater Hitler द्वारा जर्मन सेना में शामिल होने का पैगाम ठुकरा दिया था गाय का दूध पीकर 3 ओलम्पिक स्वर्ण पदक जीते मेजर ध्यानचंद नें

Check out @shantprakash's Tweet: https://twitter.com/shantprakash/status/770185382021455872?s=09

Friday, August 12, 2016

इजराइल जहां पाकिस्तानी पासपोर्ट नहीं चलता

इजराइल (Israel) दुनिया के सबसे छोटे व नए राष्ट्रों में से एक है, जो चारों तरफ से दुश्मन देशों से गिरा हुआ है और दुश्मन देश भी ऐसे हैं जो इज़राइल (Israel) को किसी भी तरीके से खत्म कर देना चाहते हैं, फिर भी इजराइल से उसके शत्रु देश घबराते है, इजराइल नहीं। इसराइल (Israel) के शत्रु देश भी कहते हैं की इजराइल सदा अपने दुश्मनों के घर में घुस कर उन्हें मारने की फ़िराक में रहता है। यह सब संभव हुआ इजराइल (Israel) के स्वाभिमानी एवं देशभक्त लोगों की वजह से

 1. इजराइल (Israel) दुनिया का एकमात्र यहूदी राष्ट है तथा इजरायल की यह नीति है कि पूरी दुनिया में अगर कहीं भी कोई भी यहूदी रहता है तो वह इजरायल का नागरिक माना जाएगा।

2. दुनिया के सबसे नए राष्ट्रों में इजराइल (Israel) एक राष्ट्र है जिसकी उम्र केवल 67 वर्ष है।

3. इजराइल (Israel) के धर्म के बाद अब बात करते हैं इजरायली राष्ट्रीय भाषा की तो हम बता दें कि इसराइल की राष्ट्र भाषा हिब्रू है तथा हिब्रू के बारे में यह कहा जाता है कि मध्यकाल में हिब्रू भाषा का अंत हो गया था तथा इस भाषा को कोई भी सीखने वाला नहीं बचा था। लेकिन इजरायल की स्थापना के बाद राष्ट्र भक्त यहूदीयो ने अपनी भाषा हिब्रू को इजराइल अधिकारिक भाषा बनाया और इस प्रकार हिब्रू का पुनःजन्म हुआ। इजराइल की दो अधिकारिक भाषा है, हिब्रू और अरबी। यह अपने भारत की तरह नहीं जिसने अपनी राष्ट्रीय भाषा बोलने में ही शर्म आती है।

4. इजराइल (Israel) की कुल जनसंख्या 90 लाख के बराबर है यानी हमारे दिल्ली शहर की जनसंख्या से भी कम। तथा चार इजराइल मिलकर भी उत्तर प्रदेश की जनसंख्या के बराबर नहीं कर सकते, परंतु इजराइल की छाप फिर भी आपको दुनिया के हर हिस्से में तथा हर विषय में मिलती है।

5. इजराइल (Israel) दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जहां के प्रत्येक नागरिक को मिलिट्री ट्रेनिंग अनिवार्य है तथा इजराइल का प्रत्येक नागरिक कुछ समय के लिए सेना में काम करना अनिवार्य है, चाहे वह उस देश के प्रधानमंत्री का बेटा क्यों ना हो। इसी प्रकार से इजराइल में महिलाओं को भी मिलिट्री ट्रेनिंग लेना अनिवार्य है। आप समझे मित्रों, हम तो महिलाओं को देवी के रुप में पूजते ही रह गए लेकिन वास्तविक रूप में महिला शक्ति अहमियत इसराइल में मानी जाती है।

6. खोखले वोट बैंक के कारण भारत के किसी भी प्रधानमंत्री ने अभी तक इजरायल (Israel) की कोई यात्रा नहीं की है तथा नरेंद्र मोदी जी भारत के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने सारे वोट बैंक के मिथक तोड़ते हुए इजराइल की यात्रा की।

7. अगर हम इजरायल (Israel) की वायुसेना की बात करें तो इजरायली वायु सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है। यह वायुसेना इतनी शक्तिशाली है अमेरिका तथा रूस जैसे देश भी इनसे डरते हैं। वायुसेना क्षमता के मामले में सिर्फ अमेरिका, रूस तथा चीन इजराइल से आगे हैं।

8. इजराइल (Israel) अपनी बहुत ही कम जनसंख्या व क्षेत्रफल के बावजूद दुनिया के उन दोनो देशों में शामिल है जिनके पास खुद का सेटेलाइट सिस्टम है। इजराइल की सेटेलाइट सिस्टम से जुड़ा एक तथ्य यह भी है कि इजराइल अपने सैटेलाइट किसी भी देश के साथ नहीं बाँटता तथा अपने इन सैटेलाइट की बदौलत ही इज़राइल ड्रोन चलाने की भी क्षमता रखता है।

9. इजराइल (Israel) दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जो पूर्ण रुप से एंटी बेलिस्टिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम से पूर्ण है अर्थात इजराइल की पूरी सीमाओं तथा प्रत्येक हिस्से में एंटी बेलिस्टिक मिसाइल लगी हुई है। इसी कारण चारों तरफ अपने शत्रु देशो से घिरे होने के बावजूद भी इजरायल आज तक सुरक्षित है। इजराइल के ऊपर प्रतिदिन अरब देशो के पाले हुए अनेक आतंकवादी संगठन रोकेट से हमला करते हैं, लेकिन सारे रॉकेट इनके डिफेंस सिस्टम के कारण रास्ते में ही नष्ट हो जाते हैं।

10. अगर हम पर्यावरण की बात करें तो इजराइल (Israel) दुनिया का पहला और एकमात्र ऐसा देश है, जिस देश में पिछली सदी की तुलना में इस सदी अधिक वृक्ष है अर्थात इजराइल शक्ति में तो आगे है ही, लेकिन इसके अलावा वह पर्यावरण के मामले में भी बहुत ज्यादा सजग हैं।

11. इजरायली (Israel) नोटों में ब्रेल लिपि का इस्तेमाल किया जाता है, इसलिए इसके नोट को दृष्टिहीन लोग भी पहचान सकते हैं। यह अपनी तरह का पहला ऐसा नोट है।

12. इजराइल (Israel) के जन्म से ही अनेक मुस्लिम राष्ट्र इसके शत्रु रहे हैं, जिसके कारण यह अभी तक सात बड़ी लड़ाइयां लड़ चुका है तथा एक बार तो इसके ऊपर 7 देशो ने भी हमला कर दिया था, लेकिन उस लड़ाई में भी इजराइल ने ही जीत हासिल की।

13. इजराइल (Israel) पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा GDP के अनुपात में रक्षा क्षेत्र पर ही खर्च करता है।

14. हमने आपको पहले बताया कि इसराइल (Israel) के सभी विद्यार्थी अथवा युवकों को चाहे वह लड़का हो अथवा लड़की हो, अनिवार्य रूप से सेना में जॉइनिंग करनी ही पड़ती है तथा सेना में अपनी सर्विस दौरान लड़कों की अवधि तीन साल के लिए होती है तथा लड़कियों के लिए दो साल होती है।

15. सबसे पहला फोन मोटोरोला कंपनी ने इजराइल (Israel) में ही बनाया था।

16. सबसे पहली पेंटियम चिप माइक्रोसॉफ्ट के लिए इज़राइल (Israel) में ही बनाई गई थी, तथा पहली वॉइस मेल भी इजराईल में ही विकसित की गई थी।

17. जैसा की हम पहले ही ऊपरोक्त बता चुके हैं कि इसराइल (Israel) के ऊपर एक बार सात देशो ने हमला कर दिया था तथा इस युद्ध में इसराइल ने अकेले ही उन सातों मुस्लिम देशों को एक साथ हराया था और जिस क्षेत्र को वह लोग विवादित बता रहे थे, वह भी इज़राइल ने हथिया लिया था। अर्थात हम भारतीय रीढ़विहीन नेताओं की तरह नहीं जो सारी लड़ाइयां टेबल पर हारते हुए ही चले जाएं।

18. मित्रों आपको याद होगा कि जब भी हमारे देश में आतंकवादी हमले होते हैं तो हमारे नेता जिनको हम कहें ‘रीढ़विहीन नेता’ , वह एक वाक्य बार-बार बोलते हैं कि हम इस आतंकवादी घटना की निंदा करते है, लेकिन इसराइल कभी भी इस तरह की बातें नहीं करता। इजरायल की एक सीधी सिंपल सी पॉलिसी है कि अगर किसी भी राष्ट्र या किसी भी संगठन ने हमारे देश के एक भी नागरिक को मारा तो हम उसे दुनिया के किसी भी हिस्से में ढूंढ कर उसे मार देंगे और हमारे एक नागरिक के बदले उसके 50 नागरिक मारे जाएंगे।

19. इजराइल के बारे में एक विचित्र तथ्य यह भी है कि इजराईल ने आज तक अपने किसी भी दुश्मन को जीवित नहीं छोड़ा। इजराइल के ऊपर हमला करने वाले सभी दुश्मनो की मृत्यु निश्चित है।

20. भारत का नंबर एक दुश्मन पाकिस्तान भी इसराइल से कितनी घृणा करता है, इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि हर पाकिस्तानी पासपोर्ट पर साफ शब्दों में लिखा होता है कि यह पासपोर्ट इजराइल को छोड़कर किस किसी भी राष्ट्र में मान्य है।

21. इजराइल का सबसे विचित्र तथ्य यह है कि आप अपनी नाक रविवार के दिन साफ नहीं कर सकते। अब ऐसा क्यों है यह तो इसराइल से ही पता करना पड़ेगा।

22. इजराइल के एक अलग राष्ट्र बनने के बाद 1952 में अमेरिका ने अल्बर्ट आइंस्टाइन को इजराइल का प्रधानमंत्री बनाने का प्रस्ताव पेश किया, लेकिन हम इस अल्बर्ट आइंस्टीन ने यह प्रस्ताव ठुकरा दिया।

23. दुनिया का सबसे पहला एंटीवायरस भी इजराइल में ही बना। सबसे पहला एंटीवायरस इसराइल में 1979 में बनाया गया था।

24. इजराइल में सूअर पालना पूरी तरह से प्रतिबंधित है। ऐसा करने पर आपको जेल भी हो सकती है।

25. इजराइल दुनिया मैं सबसे ज्यादा हीरो की कटिंग और पोलिशिंग का केंद्र भी है। यहाँ पुरी दुनिया में सबसे ज्यादा हीरो की होल-सेल होती है।

26. दुनिया की सबसे छोटी बाइबल भी इज़राइल में बनी है जो केवल 4.16 मिलीमीटर लंबी चौड़ी है।

27. इजराइल अपनी जनसंख्या की जरूरत के हिसाब से 95% खाद्यान्न खुद उपजाता जाता है। कृषि उत्पादों के मामले में इजराइल लगभग पूरी तरह से ही आत्मनिर्भर है।

28. इजराइल के लोगों की मेहनत और बुद्धि का एक नमूना आप देखिए कि पिछले 25 सालों में इसराइल के कृषि उत्पादन में 7 गुणा बढ़ोत्तरी हुई है लेकिन पानी पहले जितना प्रयोग किया जा रहा है।

29. इजराइल में लगभग 90% जनसंख्या सौर ऊर्जा का प्रयोग करती है, जो पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा है।

30. व्यवसायिक दृष्टि से भी इसराइल दुनिया में तीसरे स्थान पर है। इजराईल में करीब 3500 से भी ज्यादा टेक्नोलॉजी कंपनी है जो पूरी दुनिया में सिलिकॉन वैली के बाद दूसरे नंबर पर आती है।

31. इजराइल मिडिल-ईस्ट में बसा हुआ एक छोटा देश है, लेकिन इजरायल की मीडिया को पूरे अरब देशों की मीडिया के मुकाबले सबसे ज्यादा आजादी हासिल है।

32. आपको जानकर हैरानी होगी कि इजराइल में केवल 40 ही किताबों की दुकानें हैं, क्यूंकि इजराइल में हर किसी व्यक्ति को सरकार ही किताब मुहैया कराती है।

33. इजराइल, पूरे अरब जगत का एकमात्र ऐसा देश है जहां महिला तथा पुरुषों को बराबरी के अधिकार प्राप्त है।

34. इजराइल के पास केवल 273 किलोमीटर लंबा समुद्री तट है लेकिन उसमें भी इज़राइल ने 137 ऑफिशियल बीच बना रखे है।

35. जनसंख्या के हिसाब से सबसे ज्यादा विश्वविद्यालय इजराइल में ही स्थित है।

36. अंत में इजराइल की आक्रामकता एवं देशभक्ति का एक छोटा सा नमूना हम आपको बताते हैं कि, 1972 में जर्मनी के म्यूनीख ओलंपिक गेम्स में फिलिस्तीन के मुस्लिम आतंकवादियों ने 12 इजरायली खिलाड़ियों को मार डाला था, तब तात्कालीन इसराइली प्रधानमंत्री ‘गोल्डा मेयर’ ने न तो इस घटना की निंदा करी और ना ही उन्होंने हमारे देश के घटिया नेताओ की तरह कोई शांति का वक्तव्य दिया बल्कि उन्होंने सारे मृत खिलाड़ियों के घरवालों को फोन करके कहा कि हम इसका बदला देंगे लेंगे तथा इसके बाद उन्होंने अपनी खुफिया एजेंसी ‘मोसाद’ को केवल इतना ही कहा कि दुनिया के किसी भी राष्ट्र किसी भी हिस्से में कोई भी आतंकवादी हो जो इस घटना में शामिल है उन्हें किसी भी तरह मार दो और उन्होंने ऐसा ही किया भी।